Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

(Improved storage structures of Jharkhand) झारखंड की उन्नत भंडारण संरचनाएं

उन्नत भंडारण संरचनाएं हैं-

1. उन्नत कोठियां

2. ईंट निर्मित गोदाम

3. सीमेंट से प्लास्टर की हुई बांस की कोठियां

4. CAP (कवर एंड प्लिंथ) भंडार

5. सायलो

1. उन्नत कोठियां: विभिन्न संगठनों ने वैज्ञानिक विधियों से अनाज भांडारण के लिए विभिन्न प्रकार की उन्नत कोठियों का विकास किया है जो आर्द्रता रोधी और कृंतक रोधी होती हैं। ये हैं- पूसा कोठी, नन्दा कोठी, पीकेएस कोठी, पीएयू कोठी, हापुर कोठी, चित्तौड़ कोठी आदि।

2. ईंट निर्मित गोदाम: ये ईंट की दीवारों के बने होते हैं और इनके फर्श प्लास्टर किए होते हैं जिनपर बड़ी मात्रा में धान/चावल या उनकी बोरियां रखी जाती हैं।

3. सीमेंट से प्लास्टर की हुई बांस की कोठियां: इस कोठी का विकास पोस्ट हार्वेस्ट टेक्नोलॉजी सेंटर, खड़गपुर द्वारा कियागया। इस कोठी के निर्माण में बांस की खपच

10
Oct

पारंपरिक भंडारण संरचनाएं

(Traditional storage structures) पारंपरिक भंडारण संरचनाएं

पारंपरिक भंडारण संरचनाएं हैं-

1. मिट्टी के कोठार/कोठी

2. बांस के बने बखार

3. ठेक

4. धातु के पात्र

5. बोरे

1. मिट्टी के कोठार/कोठी: ये ईंट और मिट्टी के गारे या पुआल और गोबर से बनाए जाते हैं। इनका आकार प्रायः बेलनाकार होता है और ये विभिन्न मापों के होते हैं।

2. बांस के बने बखार: बांस की खपचियों के बने होते हैं और इनपर मिट्टी के गारे और गोबर का लेप चढ़ाया जाता है।

3. ठेक: ये बोरे या सूती कपड़े से बनाए जाते हैं और चारों तरफ से लकड़ी की संरचना से घिरे होते हैं। इनका आकार प्रायः आयताकार होता है।

4. धातु के पात्र: ये लोहे की चादरों से बने होते हैं। ये भिन्न-भिन्न मापों के हो सकते हैं और आयताकार या वर्गाकार होते हैं।

5. बोरे: ये जूट के बने होते हैं।

(Location specific storage structures of Jharkhand state) झारखंड राज्य के स्थान विशेष में स्थापित भंडारण संरचनाएं

दो मुख्य फसलों के बीच के समय में काम चलाने के लिए धान और चावल का भंडारण किया जाता है। भंडारण से मौसम, आर्द्रता, कीटों, सूक्ष्म-जीवों, चूहों, पक्षियों और अन्य प्रकार के प्रकोपों एवं संदूषण से अनाज की सुरक्षा होती है। झारखंड राज्य में धान/चावल का भंडारण दो प्रकार की भंडारण संरचनाओं में किया जाता है।

1. पारंपरिक भंडारण संरचनाएं।

2. उन्नत भंडारण संरचनाएं।

Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies