Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

 

किसान का प्रोफाइल  
  • किसानकानाम : श्री नारायण ऋषिजी बोरकर  
  • स्थान: ज़िला चन्द्रपुर, महाराष्ट्र
  • जन्मतिथितथा 31 जनवरी 2011 कोआयु: 15 जनवरी 1970, (41 वर्ष)
  • शैक्षणिकयोग्यता: 10वीं उत्तीर्ण  
  • ज़मीनकास्वामित्व (हेक्टेयरमें): 3.72
  • चावलकीखेतीकाअनुभव: (वर्षोंमें):  25
  • किसानद्वाराअपनायीगयीफसलप्रणाली:   खरीफ में धान, चना, रबी में गेहूं तथा सब्ज़िया
नवाचार (इनोवेशन) का विवरण : नवाचार (इनोवेशन) का शीर्षक तथा प्रकृति: 
  • चावल की खेती की एसआरआइ प्रणाली
  • बायोगैस सन्यंत्र की स्थापना
नवाचार (इनोवेशन) का वर्णन :
  • अपने खेत में चावल उपजाने की एसआरआइ प्रणाली अपनायी।
  • अपने घर पर बायोगैस सन्यंत्र स्थापित किया तथा खाना पकाने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं।
  • किसानों का क्लब संयोजित किया
समस्या का कथन (वर्णन करें कि नवाचार द्वारा कैसे

 किसान का प्रोफाइल                                                                                                                                                           

  • किसानकानाम : श्री बलिजेपल्ली वेंकट रमण मूर्ति                   
  • स्थान: श्रीकाकुलम ज़िला, आन्ध्रप्रदेश
  • जन्मतिथितथा 31 जनवरी 2011 कोआयु: 07-05-1958 एवं 52 वर्ष 
  • शैक्षणिकयोग्यता: बीएससी  
  • ज़मीनकास्वामित्व (हेक्टेयरमें): 4
  • चावलकीखेतीकाअनुभव: (वर्षोंमें):  30 वर्ष
  • किसानद्वाराअपनायीगयीफसलप्रणाली:धान-हरा चना-सब्ज़ियां, धान-काला चना-सब्ज़ियां, हरी खाद-दलहन, धान-सब्ज़ियां-सब्ज़ियां  
    नवाचार (इनोवेशन) काशीर्षकतथाप्रकृति:खेत का यंत्रीकरण – धान के ड्रम सीडर का उपयोग   नवाचारका वर्णन: 2008-09 में ख

 किसान का प्रोफाइल                                                                                  

  • किसानकानाम : श्री कैलाश राणा मंगेर    
  • स्थान: पूर्व सिक्किम – 737 135  
  • जन्मतिथितथा 31 जनवरी 2011 कोआयु: 05-08-1968, 52 वर्ष, 5 महीने
  • शैक्षणिकयोग्यता: मेट्रिक उत्तीर्ण  
  • ज़मीनकास्वामित्व (हेक्टेयरमें): 4.0
  • चावलकीखेतीकाअनुभव: (वर्षोंमें):  20
  • किसानद्वाराअपनायीगयीफसलप्रणाली:   मक्का – धान – तोरिआ, मक्का – धान – कोल की फसलें, मक्का – धान – आलू
  नवाचार (इनोवेशन) का विवरण : नवाचार (इनोवेशन) का शीर्षक तथा प्रकृति:नए सुगन्धित चावल के कल्टिवर को अपनाना  नवाचार (इनोवेशन) का वर्णन : स्थानीय सुगन्धित चावल कल्टिवर अर्थात दुधे तुलसी को प्रतिस्थापित करने के लिए पश्चिम बंगाल के जलपाईगुडी के एक प्रगतिशील किसान
किसान का प्रोफाइल                                                                                                                                                 
  • किसानकानाम : श्री दालिम चौधरी   
  • स्थान: ज़िला – बोंगाइगांव, असम
  • जन्मतिथितथा 31 जनवरी 2011 कोआयु: 27-02-1975, 35 वर्ष, 11 महीने और 4 दिन
  • शैक्षणिकयोग्यता: हायर सेकंडरी उत्तीर्ण  
  •  ज़मीनकास्वामित्व (हेक्टेयरमें): 8
  •  चावलकीखेतीकाअनुभव: (वर्षोंमें):  10
  • किसानद्वाराअपनायीगयीफसलप्रणाली:   चावल(खरीफ) – चावल (ग्रीष्म), ग्रीष्मकालीन सब्ज़ियां – आलू/ टमाटर/ बैंगन/ सफेद सरसों
  नवाचार (इनोवेशन) का विवरण : नवाचार (इनोवेशन) का शीर्षक तथा प्रकृति: संशोधित सब्स्ट्रेट तथा एस आर आई तकनीक के तहत चावल के कोपल बढाने की विधि।   नवाचार (इनोवेशन)
किसान का प्रोफाइल:                                                                                                                                                                              
  • किसान का नाम : ग़.नबी इतू  
  • स्थान: ज़िला कुल्गाम, जम्मू एवं कश्मीर
  • जन्मतिथि तथा 31 जनवरी 2011 को आयु: 06-06-1963 (48 वर्ष)
  • शैक्षणिक योग्यता: मेट्रिक  
  • ज़मीन का स्वामित्व (हेक्टेयर में): 5.00
  • चावल की खेती का अनुभव: (वर्षों में):  30
  • किसान द्वारा अपनायी गयी फसल प्रणाली: चावल आधारित (चावल – तिलहन, चावल – चारा)
नवाचार (इनोवेशन) का विवरण :                             नवाचार (इनोवेशन) का शीर्षक तथा प्रकृति: स्थानीय भूमि की नस्ल के सुगन्धित चावल (कमाड) की खेती नव

 किसान का प्रोफाइल:                                                                                   

  • किसान का नाम : श्री सैयद ग़नी ख़ान  
  • स्थान: मालावल्ली तालुका, मांड्या - 571424
  • जन्मतिथि तथा 31 जनवरी 2011 को आयु: 06/07/1976, 34 वर्ष व 5 महीने
  • शैक्षणिक योग्यता: बी.ए.  
  • ज़मीन का स्वामित्व (हेक्टेयर में): 6
  • चावल की खेती का अनुभव: (वर्षों में):  14 वर्ष
 किसानद्वाराअपनायीगयीफसलप्रणाली:   धान-धान, धान-रागी, धान-हरा चना, गन्ना-गन्ना  नवाचार (इनोवेशन) का विवरण :  नवाचार (इनोवेशन) का शीर्षक तथा प्रकृति:  नई/स्थानीय किस्मों का विकास, पारम्परिक किस्मों का संरक्षण  नवाचार (इनोवेशन) का वर्णन :स्थानीय कल्टिवर्स के उपयोग के दौरान कई किस्मों से रूबरू हुए और नए गुणों वाली नई विभिन्न किस्में प्राप्त कीं तथा लगभग 140 स्थानीय

  किसान का प्रोफाइल:                                                                              

  • किसान का नाम : श्री शिवरामू 
  • स्थान: डुड्डा होबली मांड्या, कर्नाटक
  • जन्मतिथि तथा 31 जनवरी 2011 को आयु: 10-07-1965, 45वर्ष, 6 महीने
  • शैक्षणिक योग्यता: 11 पीयूसी (12वीं कक्षा)  
  • ज़मीन का स्वामित्व (हेक्टेयर में): 1.2
  • चावल की खेती का अनुभव: (वर्षों में):  25
  • किसान द्वारा अपनायी गयी फसल प्रणाली:   गन्ना-चावल, धान-सोयाबीन, धान-रागी, जास्मीन (काकडा), नारियल का बाग़ (9 गुंटे).
 नवाचार (इनोवेशन) का विवरण :
  • नवाचार (इनोवेशन) का शीर्षक तथा प्रकृति:  केआरएच2 संकर धान की एकल कोपल के प्रत्यारोपण के विकल्प के रूप में ड्रम सीडर विधि से बुवाई।.                                                                   &nb
किसान का प्रोफाइल:                                                                                                                          
  • किसान का नाम : श्री चिक्कबोरेगौडा  
  • स्थान: संथानूर, मांड्या, कर्नाटक
  • जन्मतिथि तथा 31 जनवरी 2011 को आयु: 15-08-1957, 53वर्ष, 5 महीने
  • शैक्षणिक योग्यता: एसएसएलसी (10वीं)  
  • ज़मीन का स्वामित्व (हेक्टेयर में): 2.24
  • चावल की खेती का अनुभव: (वर्षों में):  35किसान द्वारा अपनायी गयी फसल प्रणाली:   गन्ना-गन्ना, धान-फली, धान-रागी
नवाचार (इनोवेशन) का विवरण : नवाचार (इनोवेशन) का शीर्षक तथा प्रकृति: एसआरआइ धान की खेती के लिए बारह इंच के अंतर पर 6 कतारों वाले ड्रम के रूप में पर्याय.   नवाचार (इनोवेशन) का वर्णन :यह उपकरण जस्ते की चादर से बनता है जिसमें 2 बक्से होते हैं और प्रत्येक बक्से में 12 इ
03
Sep

धान की उन्नत किस्में उगाना

 किसान का प्रोफाइल:                                                                                                                                             

  • किसान का नाम : मुसिरेड्डी ताताबाई  
  • स्थान: पल्लेपुवीधि, कट्रावुलपल्ली,                                                       जग्गमपेट मंडल, आन्ध्रप्रदेश
  • जन्मतिथि तथा 31 जनवरी 2011 को आयु: 65 वर्ष
  • शैक्षणिक योग्यता: कक्षा 8
  • ज़मीन का स्वामित्व (हेक्टेयर में): 24
  • चावल की खेती का अनुभव: (वर्षों में):  40
  किसान द्वारा अपनायी गयी फसल प्रणाली:  चावल-चावल-दलहन, मक्का-सब्ज़ियां-दलहन   नवाचार (इनोवेशन) का वर्णन : नवाचार (इनोवेशन) का शीर्षक तथा प्रकृति: धान की उन्नत किस्में उगाना   नवाचार (इनोवेशन) का वर्णन : उन्न

 किसान का प्रोफाइल                                                                                                                

  • किसानकानाम : श्री मुप्प ना पवन कुमार
  • स्थान: पेड्डपुरम मंडल, पू.गो.ज़िला, आन्ध्रप्रदेश
  • जन्मतिथितथा 31 जनवरी 2011 कोआयु: 12-7-81, 27 वर्ष
  • शैक्षणिकयोग्यता: एमबीए
  • ज़मीनकास्वामित्व (हेक्टेयरमें): 6.00
  • चावलकीखेतीकाअनुभव: (वर्षोंमें):  2
  • किसानद्वाराअपनायीगयीफसलप्रणाली:चावल-चावल  
नवाचारका वर्णन नवाचार (इनोवेशन) काशीर्षकतथाप्रकृति:  धान की किस्म आरजीएल–2537 उगाकर चक्रवात से होने वाले नुकसान को काबू में करना.     नवाचारका वर्णन: -  
  • पेद्दापुरम में धान की किस्म आरजीएल-2537 (श्रीकाकुलम सन्नालु) खरीफ के दौरान 5 एकड में बोयी गई। आरजीएल-2537 एक लम्बी अवधि की किस्म है जि
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies