Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

सफेद-सिरे का निमेटोड अफेलेंकॉइडेस बेस्सेयि (क्रिस्टी, 1942)

PrintPrintSend to friendSend to friend

सफेद-सिरे के रोग का परिचय

1. चावल का सफेद-सिरे का रोग जो बीज में लगे अफेलेंकॉइडेस बेस्सेयि (क्रिस्टी, 1942) द्वारा होता है, एशिया, उष्णकटिबन्धीय अमेरिका, सोवियत संघ और अफ्रीका के चावल उगाने वाले देशों में ऊंची भूमि के/ सिंचित चावल में पाया गया है (फ्रेंकलिन और सिद्दिकी, 1972; फॉर्च्यूनरऔर विलियम्स, 1975, ऑउ, 1985)।
2. विभिन्न देशों में इस रोग की वज़ह से उपज का नुकसान जापान में 14 0.5 से 46.7% (निशिज़ावा और यामामोतो, 1951), संयुक्त राज्य अमेरिका में 40-50% (एट्किंस और टोड,1959), ताइवान में 29 -46% (हुंग, 1959), सोवियत संघ में 41-71% (तिखोनोवा, 1966) और भारत में 20-60 % (राव, प्रसाद और पंवार, 1985) होता है।

File Courtesy: 
सफेद-सिरे का निमेटोड अफेलेंकॉइडेस बेस्सेयि (क्रिस्टी, 1942)
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies