Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

चावल का घुंडी बग/ईयर हेड बग

PrintPrintSend to friendSend to friend

चावल का घुंडी बग/ईयर हेड बग

वैज्ञानिक नाम: लैपटोकोरिसा एक्यूटा, एलीडिडे, हेमिटेरा

हमले के लक्षण:

  • पत्तियां पीली हो जाती है और बाद में सिरे से नीचे की ओर रस्टिड हो जाती है।
  • खाने के स्थलों पर बहुत सारे भूरे रंग के धब्बे / दानों में कुम्हलाहट दिखाई देने लगती है।
  • पर्याक्रमण ज्यादा हो जाने की स्थिति में पूरे के पूरे ईयरहेड में परिपक्व दाने नहीं रहते हैं।
  • खेत में इसकी उपस्थिति के बारे में इसकी तीखी गंध के द्वारा पता लगता है।

क्षति की प्रकृति:

  • वयस्क और निंफ दोनों ही नुकसान करते हैं।
  • अंडे सेने के 3 से 4 घंटे बाद ही निंफ खाना शुरू कर देते हैं।
  • वे पत्ती के सिरे के नजदीक सैप /दूधिया स्तर पर विकसित होने वाले स्पाइकलेट के दूधिया सैप को खाते हैं।
  • दूधिया सैप को चूसने के कारण दाने अच्छी तरह से नहीं भरते/आधे भरते हैं और भूसी जैसे हो जाते है।
  • अत्यधिक पर्याक्रमण उपज को 50% तक कम कर सकते हैं।
  • भूसे का स्वाद भी अच्छा नहीं होता जो कि मवेशियों को पसंद नहीं आता।

प्रबंधन

रासायनिक नियंत्रण: एक हेक्टेयर के लिए एंडोसलफान 35 ईसी या क्वीनोलफोस 1.5 % डस्ट + @ 25 किलो /हेक्टेयर, या क्वलीनोलफोस 25 ईसी @1.5 लीटर 500 लीटर पानी में डालकर छिड़काव करने से कीटों की जनसंख्या को नियंत्रित करने में अत्यधिक प्रभावी पाया गया है।

File Courtesy: 
सी एस आजाद कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, कानपुर
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies