Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

घरेलू चूहा

PrintPrintSend to friendSend to friend

घरेलू चूहा, मुस मुस्कुलस

नुकसान का प्रकार : स्टोर रूम और गोदामों में एक विशेष तरह की गंध से इनकी उपस्थिति को पहचाना जा सकता है। ये खाद्यान्न, अन्न उत्पाद, सब्जियां, मांस, तेल, कार्बोहाइड्रेट आदि खाते हैं और लकड़ी के फर्नीचर, कागज़, कपड़े, रबड़, प्लास्टिक और चमड़े की वस्तुओं आदि को नुकसान पहुंचा सकते हैं। ये जितना खाते हैं उससे ज़्यादा नुकसान पहुंचाते हैं। ये बालों, मूत्र और मल से खाद्य पदार्थों को दुषित करते हैं; ये सैल्मोनेला नामक जीवों को भी फैलाते हैं जिनसे खाद्य विषाक्त (फूड पॉइज़निंग) हो जाता है। ये खाने-पीने की वस्तुओं के मुँह लगाकर और उनके ऊपर चलकर वायरस संक्रमण भी फैला सकते हैं। ये छूत की बीमारी जैसे दाद के लिए भी ज़िम्मेदार हैं। इनकी बीट इधर-उधर बिखरी पड़ी रहती है और ये तकलीनुमा होती है।

स्वभाव : ये बिलों में, गहराई में या बक्सों के नीचे या कहीं अंधेरी जगह में रहना पसंद करते हैं जहां ये आसानी से छिप सकें। ये रात में सक्रिय रहते हैं लेकिन दिन में भी देखे जा सकते हैं। इनका इधर-उधर होना बचते-बचाते भागने जैसा ही होता है। खाना अधिकतर 10 मीटर के दायरे में ही होता है। चूहा भेड़ चाल नहीं चलता।

File Courtesy: 
चंद्रशेखर आज़ाद कृषि एवं तकनीकी विश्वविद्यालय, कानपुर
Image Courtesy: 
http://bioweb.uwlax.edu/bio203/s2009/smith_meg2/
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies