Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

नॉर्वे चूहा

PrintPrintSend to friendSend to friend

नॉर्वे रैट, भूरा चूहा, गटर का चूहा, जहाज का चूहा, रैटस नॉर्वेजिकस

नुकसान का प्रकार : अनाज खाते हैं. भंडार की वस्तुओं जैसे बैग्स/डब्बों आदि को नुकसान पहुंचाते हैं। अपने उत्सर्जन, मल और बालों से अनाज को दूषित करते हैं। कई तरह की बीमारियां फैलाते हैं। इनकी बीट समूह में पाई जाती है और तकलीनुमा होती है।

स्वभाव : ये अनाज भंडारों के बाहर बिल बनाते हैं लेकिन अकसर गटर में रहते हैं। ये बिल केवल सतह पर होते हैं और उसके दो से पांच मुंह होते हैं। सामान्यतया ये 25 से 30 मीटर के दायरे में जीवन यापन करते हैं। ये अच्छे तैराक होते हैं। जीवनकाल करीब 1 वर्ष होता है।

File Courtesy: 
चंद्रशेखर आज़ाद कृषि एवं तकनीकी विश्वविद्यालय, कानपुर
Image Courtesy: 
http://nematode.unl.edu/norwayrat.htm
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies