Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

चिरस्थायी कृषि के लिए जैविक खेती का विकास: मणिपुर

PrintPrintSend to friendSend to friend

• योजना का नाम : चिरस्थायी कृषि के लिए जैविक खेती का विकास

• प्रायोजक : राज्य सरकार

• वित्तपोषण का पैटर्न : योजना का परिव्यय राज्य द्वारा साझा होगा

• मंत्रालय/ विभाग : कृषि विभाग

• विवरण : यह योजना फसल उत्पादन विधि के माध्यम से लागू की जाती है जिसमें प्रकृति के नियमों का सम्मान करने के साथ पोषक, स्वस्थ और प्रदूषण मुक्त भोजन का उत्पादन करने का लक्ष्य होता है।

• लाभार्थी : व्यक्तिगत लाभ

• लाभ के प्रकार : अन्य

• अन्य लाभ : अभियान

• विवरण : यह योजना एक कृषि प्रणाली जो रासायनिक कीटनाशकों का इस्तेमाल करने से बचने का प्रयास करती है। यह आर्थिक लाभोन्मुख नहीं है वरन् सामाजिक लाभ उन्मुख है। इसमें खेत पर उपलब्ध संसाधनों का अधिकतम इस्तेमाल और खेत के बाहर के संसाधनों का न्यूनतम इस्तेमाल होता है।

• पात्रता के मानक : किसान की सभी श्रेणियों

• किस तरह लाभ लें : लाभार्थियों का चयन जिला कृषि अधिकारी की सिफारिश के माध्यम से किया जाता है। योजना की वैधता

• वैधता तिथि : 30 / 07 / 2008

File Courtesy: 
http://india.gov.in/citizen/agriculture/viewscheme.php?schemeid=716
Related Terms: FISGovernment Schemes
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies