Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

पूसा बासमती-1121

PrintPrintSend to friendSend to friend

पूसा बासमती-1121

  • पूसा बासमती-1121 को दिल्ली प्रदेष द्वारा सन् 2003 में विमोचित किया गया ।
  • यह प्रजाति पकाने के बाद सर्वाधिक लम्बे दाने (लगभग 22 मि.मी.), आसाधरण आयतन फैलाव, अच्छे स्वाद और सुपाच्यता के लिए विख्यात है ।
  • यह प्रजाति पक्कर तैयार होने में 145 दिन का समय लेती है तथा इसकी औसत उपज 18-20 कु./एकड़ होती है ।
  • पूसा बासमती-1121 की खेती से अधिक लाभ के कारण बासमती धान के उत्पादन में एक महत्वपूर्ण बदलाव देखने को मिलता है ।
  • अध्यक्ष, अखिल भारतीय धान निर्यातक संघ के द्वारा प्रस्तुत किए गए आंकड़ो के अनुसार, खरीफ 2008 में बासमती धान के 15 लाख क्षेत्रफल में लगभग 50-60 प्रतिषत हिस्सा पूसा बासमती-1121 का था ।
  • अपने अद्भुत गुणों और दानों की पकने की गुणवत्ता के कारण, अंतर्राश्ट्रीय बाज़ार में पूसा बासमती-1121 की दर परम्परागत बासमती (तरावड़ी बासमती) की तुलना में लगभग 200 यू.एस. डालर प्रति टन अधिक है ।
File Courtesy: 
http://rkmp.iari.res.in/index.aspx
Related Terms: FISProduction Know How
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies