Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

प्लास्टिक ड्रम सीडर

PrintPrintSend to friendSend to friend

प्लास्टिक ड्रम सीडर

  • इस विधि में अंकुरित बीजों को गीली जुताई किए हुए चावल के खेत में सीधे ही बोया जा सकता है।
  • इसमें कम समय लगता है क्योंकि इसमें नर्सरी का समय और खर्च, रोपाई और श्रम कम हो जाता है।
  • चावल के खेत की गीली जुताई के एक दिन बाद, जब पानी स्थिर हो तो बुवाई की जानी चाहिए।
File Courtesy: 
सी एस आजाद कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, कानपुर
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies