Best Viewed in Mozilla Firefox, Google Chrome

गुणवत्ता बीजों के लक्षण

PrintPrintSend to friendSend to friend

गुणवत्ता बीजों के लक्षण

क) आनुवंशिक शुद्धता: बीज आनुवंशिक रूप से शुद्ध या अपने प्रकार के अनुसार या प्रजनन के विभिन्न चरणों ( बीज-पौधा-बीज) पर अपने मूल बीज से मेल खाने वाला होना चाहिए। ऐसा होना मौलिकता के साथ भावी पीढ़ी की विभिन्नता को बनाए रखने के लिए आवश्यक है।

ख) शारीरिक शुद्धता: यह बीज की सफाई से संबंधित है। बीज को शुद्ध रूप से सजातीय और अंतर्निहित सामग्री, दूसरी फसलों के बीज और खरपतवार के बीजों से मुक्त होना चाहिए। यह बीज के स्वास्थ्य, उसकी आनुवंशिक और शारीरिक स्थिति को बनाए रखने के लिए आवश्यक है।

ग) बीज की क्रियात्मक स्थिति: बीज का अंकुरण और शक्ति, बीज का उच्च स्तर बना कर रखा जाना बीज का क्रियात्मक (फिजियोलॉजिकल) स्थिति कही जाती है। यह बीज के रोपण गुण को बनाए रखने के लिए आवश्यक है।

घ) बीज के स्वास्थ्य की स्थिति: स्वस्थ बीज कीट और रोगजनक हमले से मुक्त होना चाहिए और उसमें गिरावट का स्तर कम होना चाहिए। यह बीज के अन्य उल्लेखित गुणों को बनाए रखने के लिए आवश्यक है।

बीज के अन्य गुणवत्ता लक्षणः बीज में नमी का स्तर, बीज की परिपक्वता , बीज का आकार, बीज का रंग, बीज की शुद्धता ( खरपतवार और अन्य फसल के बीज से मुक्त) और अन्य प्रकार की फसलों के बीज आदि से मुक्त होना।

File Courtesy: 
सी एस आजाद कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, कानपुर
Copy rights | Disclaimer | RKMP Policies